Thursday, 23 November 2017

माह दिसम्बर-2017 के तीज- त्योहार

माह दिसम्बर-2017 में पड़ने वाले तीज त्योहार:-
--------------------------------------
    वर्ष पर्यन्त चलने वाले उत्सवों और धार्मिक अनुष्ठानो को हिन्दू धर्म का प्राण माना जाता है और हिन्दू समाज के लोग इन व्रत और त्योहारों को बेहद श्रधा और विश्वाश के साथ मनाते हैं इसलिए ज़रूरी है कि ये व्रत और अनुष्ठान का सही समय दिन तारिख और मुहूर्त आपको पता हो :-

1 दिसंबर शुक्रवारप्रदोष व्रत, भरणी दीपम
2 दिसंबर शनिवार पिशाचमोचन श्राद्ध, शिव चतुर्दशी व्रत
3 दिसंबर रविवार मार्गशीर्ष पूर्णिमा, श्रीदत्तात्रेय जयन्ती, त्रिपुरभैरव जयन्ती, श्रीसत्यनारायण व्रत
6 दिसंबर बुधवार श्रीगणेश चतुर्थी व्रत
10 दिसंबर रविवार रूक्मिणी अष्टमी, अष्टका श्राद्ध
12 दिसंबर मंगलवार पार्श्वनाथ जयन्ती-जैन
13 दिसंबर बुधवार सफला एकादशी व्रत
14 दिसंबर बृहस्पतिवार बोधनाचार्य जयन्ती
15 दिसंबर शुक्रवार पौष संक्रांति, पुण्यकाल अगले दिन सुबह 09:24 तक
16 दिसंबर शनिवारमास शिवरात्रि व्रत
17 दिसंबर रविवारअमावस्या-पितृ कार्येषु
18 दिसंबर सोमवार पौष अमावस, सोमवती अमावस, मेला हरिद्वार-प्रयागराज, तीर्थस्नान माहात्म्य
20 दिसंबर बुधवारआरोग्य व्रत
21 दिसंबर बृहस्पतिवारसायन उत्तरायण आरंभ, गौरी पूजन
23 दिसंबर शनिवार पंचक आरंभ 08:30 से
25 दिसंबर सोमवार मार्तण्ड सप्तमी, श्री गुरु गोविन्द सिंह जयन्ती, क्रिसमिस डे(क्रिश्चियन)
26 दिसंबर मंगलवार दुर्गाष्टमी
27 दिसंबर बुधवार पंचक समाप्त 25:37(01:37)
29 दिसंबर शुक्रवार पुत्रदा एकादशी व्रत
30 दिसंबर शनिवार शनि प्रदोष व्रत
31 दिसंबर रविवार ईशान व्रत
आचार्य राजेश कुमार
दिव्यांश ज्योतिष केंद्र



Friday, 3 November 2017

नवम्बर २०१७ के तीज त्योहार:-

नवम्बर २०१७  के तीज त्योहार:-
----------------------------
०१  नवंबर-2017 बुधवार       
  तुलसी विवाह, योगेश्वर द्वादशी, प्रदोष व्रत
०२ नवंबर-2017 गुरुवार   
वैकुण्ठ चतुर्दशी, विश्वेश्वर व्रत०
३  नवंबर-2017  शुक्रवार
  मणिकर्णिका स्नान, चौमासी चौदस, देव दीवाली
  ‎०४.  नवंबर-2017 शनिवार
  ‎
  ‎कार्तिक पूर्णिमा, पुष्कर स्नान, पूर्णिमा उपवास, गुरु नानक जयन्ती, भीष्म पञ्चक समाप्त, अष्टाह्निका विधान पूर्ण, रथ यात्रा
  ‎
  ‎०५.   नवंबर-2017 रविवार
  ‎मार्गशीर्ष प्रारम्भ *उत्तर, मासिक कार्तिगाई
  ‎
०६.नवंबर-2017. सोमवार
रोहिणी व्रत
०७ नवंबर-2017. मंगलवार
संकष्टी चतुर्थी
१०. नवंबर-2017  शुक्रवार
कालभैरव जयन्ती
१४. नवंबर-2017 मंगलवार
उत्पन्ना एकादशी, नेहरू जयन्ती
१५.    नवंबर-2017. बुधवार
प्रदोष व्रत
१६.   नवंबर-2017 बृहस्पतिवार
मासिक शिवरात्रि, वृश्चिक संक्रान्ति, मण्डला काल प्रारम्भ
१८.  नवंबर-2017 शनिवार
मार्गशीर्ष अमावस्या, दर्श अमावस्या
२२.   नवंबर-2017  बुधवार
    विनायक चतुर्थी
    ‎
२३.    गुरुवार
विवाह पञ्चमी, नाग पञ्चमी *तेलुगू
२४  नवंबर-2017 शुक्रवार
सुब्रहमन्य षष्ठी, चम्पा षष्ठी
२७ नवंबर-2017   सोमवार
मासिक दुर्गाष्टमी
३०  नवंबर-2017  गुरुवार
मोक्षदा एकादशी, गीता जयन्ती, मत्स्य द्वादशी, गुरुवार एकादशी

                आचार्य राजेश कुमार
         ‎divyansh jyotish kendra
         ‎मेल आई डी-
         ‎ rajpra.infocom@gmail.com

Thursday, 2 November 2017

उ प्र में निकाय चुनाव -2017 का नामांकन करने का शुभ मुहुर्त



निकाय चुनाव-2017 में नामांकन करने से पूर्व रखें शुभ मुहूर्त का ध्यान तो आपकी जीत की संभावना बढ़ जाएगी:-
---------------------------------------
     उत्तर प्रदेश नगर निगम चुनाव  के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है  लेकिन पार्षद और महापौर बनने के लिए नामांकन कराने से पहले प्रतिभागी शुभ मुहूर्त का पूरा ध्यान रखें तो अपने प्रतिद्वंदी को शिकस्त देने में काल चक्र आपका साथ अवश्य देगा ।
       वैदिक काल से लेकर आज तक किसी भी कार्य को करने से पहले शुभ मुहूर्त देखने की परम्परा रही है। शुभ मुहूर्त में किया गया कार्य निर्विघ्न रूप से संपन्न होता है ऐसा ऋषि मुनियों का वचन है तथा इसका अनुभव हम अपने दिन चार्य में समय-समय पर करते रहते हैं। अपने सम्पूर्ण जीवन यात्रा में जिसने समय को पहचान लिया अर्थात समय के अनुसार कार्य करने लगा वैसा व्यक्ति अवश्य ही सफल होता है उसकी सफलता में संदेह नहीं होता।
       ‎
         सामान्यतः लोगों  के मुँह से यह शब्द निकलता है कि आज का दिन बहुत अच्छा था सब काम अपने निर्धारित समय से पूरा हो गया परन्तु क्यों ? क्योंकि आज हम सही समय पर घर से निकले थे और एकदम सही समय पर कार्यस्थल पर पहुंच गए थे। वस्तुतः किसी कार्य का तुरंत हो जाना या  अल्प प्रयास में ही हो जाना यह सब जाने अनजाने में शुभ मुहूर्त/समय  का ही परिणाम है।
     क्योंकि यह बात स्पष्ट है कि  आपके जन्म कालीन ग्रह नक्षत्र व गोचरीय ग्रहों के सकारात्मक प्रभाव के कारण ही आप  इस चुनाव में नामांकन करने हेतु कदम आगे बढ़ाए हैं ।   अब हार और जीत के फैसले में आपकी किस्मत,आपके ग्रह, नक्षत्रों की ग्रेविटी ही ,आपकी महादशा-अंतरदशा प्रत्यंतर दशा शुक्ष्म दशा इत्यादि का प्रभाव ही आर-पार की लड़ाई में अंतिम फैसले के लिए निर्णायक होगा।
नामांकन के लिए शुभ मुहूर्त:-
01 नोवेम्बर से 7 नोवेम्बर-2017  के मध्य अत्यधिक शुभ तारीख :-
04 नोवेम्बर-2017 - शुक्ल पक्ष भरणी नक्षत्र
पूर्णमासी सिद्ध योग को समय 11.27 से 12.12 pm
तत्पश्चात 13.27 से 14.27 तक नामांकन के लिए अत्यधिक शुभ समय रहेगा।
राहु काल का समय -10.26 से 11.49

07 नोवेम्बर-2017:-
कृष्णा पक्ष चतुर्थी, मृगा नक्षत्र, शिव योग
शुभ समय 10.27 -12.44
राहुकाल:-14.34 से 15.57
         कोई भी शुभ कार्य करने के लिए उस दिन आपका चंद्रमा मजबूत होना चाहिए एवं आपको अपने कार्य स्थिर लग्न में करने चाहिए।  समस्त प्रतिभागियों को चाहिए कि निकाय चुनाव में नामांकन से पूर्व  किसी सक्षम एस्ट्रोलॉजर से संपर्क कर सटीक शुभ समय की जानकारी अवश्य करें।
         ‎मेरी शुभ कामना आप सभी प्रतिभागियों के साथ है।
         ‎          आचार्य राजेश कुमार
         ‎divyansh jyotish kendra
         ‎मेल आई डी-
         ‎ rajpra.infocom@gmail.com