Wednesday, 23 February 2022

 🌸  मताधिकार का मतलब🌹

                  

 यही एक ऐसा मौका होता है जिसके माध्यम से आप अपने राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनते हैं आपके एक वोट में वो ताकत होती है जिसके माध्यम से आप  देश की दशा और दिशा को बदल सकते हैं ।यही 5 वर्ष में एक बार मिलने वाला मौका आपको देश-प्रदेश जिला-तहसील-मोहल्ले को आपकी इक्षानुसार संचालित करने वाले व्यक्ति को चुनने का मुख्य मौका देता है । " मतदान " किसी देश का सबसे बड़ा उत्सव होता है - यह होली,दीवाली,दशहरा,ईद- रमज़ान , क्रिसमस से कई गुना बड़ा उत्सव है ।

 अतः है मित्र अपने अंदर की इक्षा शक्ति को जगाओ और मतदान करने के बाद ही कहीं जाओ ।🌸🙏🙏🌹

Saturday, 29 January 2022

साल -2022 में राहु करेगा राशि परिवर्तन, इन रा​शि वालों को होगा लाभ

 राहु 12 अप्रैल 2022 को वृषभ राशि की अपनी यात्रा को समाप्त करते हुए मेष राशि में गोचर करने वाले हैं। केतु ग्रह भी इस दिन तुला राशि में प्रवेश करेंगे।


ज्योतिष शास्त्र में राहु व केतु को क्रूर व पाप ग्रह माना गया है। इन्हें छाया ग्रह भी कहा जाता है क्योंकि यह सौरमंडल में दिखाई नहीं देते यानी सौरमंडल में इनका वजूद नहीं है।  हमारे जो 9 ग्रह हैं, उनमें सूर्य व चंद्रमा तो साक्षात नजर आते हैं। 5 ग्रहों- बुध, शुक्र , शनि, गुरु व मंगल को भी टेलिस्कोप से देखा जा सकता है लेकिन राहु और केतु 2 छायाग्रह हैं जो दिखाई नहीं देते लेकिन हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। 


राहु भले ही एक क्रूर व पाप ग्रह हैं लेकिन यदि राहु कुंडली में मजबूत स्थिति में होता है तो अच्छे परिणाम देता है। रंक से राजा बना देता है लेकिन जब राहु खराब स्थिति में होता है तो राजा से रंक भी बना देता है यानी कपड़े उतरवा लेता है ।


ज्योतिष में राहु ग्रह को किसी भी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है लेकिन वृषभ राशि में यह उच्च होता है और वृश्चिकराशि में यह नीच भाव में होता है।  27 नक्षत्रों में राहु आद्रा, स्वाति और शतभिषा नक्षत्रों का स्वामी है।


राहु को शनि के बाद दूसरा धीमे गोचर करने वाला ग्रह माना जाता है। राहु के प्रभावों की तुलना शनि के प्रभावों से की जाती है। इस ग्रह को एक राशि से दूसरी राशि में गोचर करने में करीब 1.5 वर्ष का समय लगता है। 


12 अप्रैल को सुबह 11 बजकर 18 मिनट पर राहु वृषभ राशि से मेष राशि में गोचर करेंगे ।



राहु के मेष राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव:-


इस गोचर के दौरान मेष राशि वालों का स्वास्थ्य ठीक नहीं रहेगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होगी और यह चिंता का कारण बनेगा। राहु के प्रभाव से मेष राशि वालों को सुस्ती का अनुभव होगा, उनके संकल्प में भी कमी आएगी। अतिश्योक्ति और आत्म-संदेह प्रबल होगा। इस गोचर के दौरान नौकरी में परिवर्तन भी हो सकता है। जीवन साथी के साथ परेशानी होगी। गलतफहमी होगी।


वृष राशि पर प्रभाव


वृष राशि वालों के स्वास्थ्य में सुधार होगा, लेकिन इस गोचर के दौरान उनका रवैया कठोर रहेगा। वृष राशि वालों को विरोधी परेशान कर सकते हैं। अचानक खर्चों में वृद्धि होगी। इस दौरान यात्राएं होंगी। वृष राशि वालों को सलाह दी जाती है कि कार्यस्थल पर सहकर्मियों के साथ वाद-विवाद से बचें। नौकरी में बदलाव की तलाश कर रहे लोग ऐसा करने में सफल होंगे। कर्ज से मुक्ति मिलेगी। गंभीर चिंता के पुराने मामले अब वृष राशि वालों को परेशान नहीं करेंगे।


मिथुन राशि पर प्रभाव


मिथुन राशि वालों को कार्यस्थल पर पदोन्नति और अन्य लाभ प्राप्त होंगे। शेयर बाजार से जुड़े लोगों को मुनाफा होगा। व्यवसाय भी फल-फूलेंगे। घरेलू क्षेत्र में दिक्कतें आएंगी। सामाजिक मान-सम्मान बरकरार रहेगा। मिथुन राशि वालों पर झूठे आरोप लग सकते हैं। छात्र अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पाएंगे।


कर्क राशि पर प्रभाव


कर्क राशि वालों के करियर में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे। निवास में परिवर्तन हो सकता है। आय में वृद्धि होगी, इसके बाद पदोन्नति होगी। इस दौरान नए वाहन खरीदे जाएंगे। पारिवारिक विवाद होंगे। माता-पिता से विवाद होगा। माता-पिता का स्वास्थ्य भी भारी चिंता का विषय रहेगा।


सिंह राशि पर प्रभाव


सिंह राशि के लिए यह गोचर अनुकूल रहेगा। जिन कामों में देरी हो रही थी, वे सभी इस गोचर के दौरान पूरे होंगे। राहु के प्रभाव के कारण निरंतर प्रयासों के बावजूद भाग्य पक्ष में नहीं रहेगा। यात्राएं होंगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। जो लोग शादी करना चाहते हैं उन्हें सफलता मिलेगी।


कन्या राशि पर प्रभाव


कन्या राशि वालों के लिए यह गोचर कठिन रहेगा। खान-पान की आदतों में सुधार करना चाहिए। स्वास्थ्य प्रभावित होगा और कुछ वायरस परेशान कर सकते हैं। विषाणुजनित रोग कन्या राशि को प्रभावित कर सकते हैं। मानसिक तनाव बढ़ेगा। करियर चुनौतियों का गवाह बनेगा। शेयर बाजार से जुड़े लोगों को सावधान रहना चाहिए। किसी खास सौदे में पैसा फंस सकता है। कन्या राशि वालों को विवादों से दूर रहना चाहिए और दूसरों से बात करते समय विनम्र भाषा का प्रयोग करना चाहिए।


तुला राशि पर प्रभाव


आर्थिक स्थिति अनुकूल रहेगी। इस चरण में भाग्य तुला राशि का साथ देगा। उन्हें प्रयास करते रहना चाहिए। सफलता मिलेगी, लेकिन तुला राशि वालों को विरोधियों से सावधान रहना होगा। तुला राशि वाले चिड़चिड़े रहेंगे और स्वास्थ्य ठीक नहीं रहेगा। जीवनसाथी अत्यधिक चिंता का विषय बनेगा। प्रोफेशनल्स को ऑफिस में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। व्यापार भागीदारों के साथ विवाद व्यापार में परेशानी का कारण बनेंगे।


वृश्चिक राशि पर प्रभाव


वृश्चिक राशि वालों को आर्थिक मामलों को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। कर्ज से बचना चाहिए। उधार भी नहीं देना चाहिए क्योंकि दिया गया धन वृश्चिक राशि में वापस नहीं आएगा। अचानक खर्चा आ सकता है। लंबे समय से परेशान लोगों का स्वास्थ्य बेहतर होगा। हालांकि किसी का स्वास्थ्य चिंता का विषय हो सकता है। गुप्त शत्रुओं को लेकर वृश्चिक राशि वालों को सतर्क रहना चाहिए। कानूनी मामलों में वृश्चिक राशि की जीत होगी।


धनु राशि पर प्रभाव


यह गोचर धनु राशि को वित्तीय लाभ प्राप्त करने में सक्षम करेगा। अटका हुआ पैसा वापस मिलेगा। मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। व्यावसायिक जीवन समृद्ध होगा। प्रमोशन होंगे। बाधाएं दूर होंगी। सामाजिक प्रतिष्ठा चिंता का कारण बनेगी। घरेलू मुद्दे प्रबल रहेंगे। प्रोफेशनल लाइफ में तरक्की होगी।


मकर राशि पर प्रभाव


इस गोचर के दौरान मकर राशि वालों को मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। नौकरी मकर राशि के कार्ड पर होगी, खासकर व्यक्तिगत संपर्कों में। सरकारी अधिकारियों का कार्यस्थल पर तबादला होगा। स्वास्थ्य मध्यम रहेगा। संपत्ति और वाहन से जुड़े मुद्दे समस्याग्रस्त होंगे। माता-पिता के साथ विवाद होगा


कुंभ राशि पर प्रभाव


कुंभ राशि वालों के स्वास्थ्य में सुधार होगा। काम में देरी दूर होगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा और कुंभ राशि के जातक पराजित होंगे। राहु के प्रभाव से मानसिक तनाव बढ़ेगा। भाई-बहन में झगड़ा होगा। करियर में प्रगति होगी, लेकिन अति आत्मविश्वास से दूर रहना चाहिए। यात्रा कष्टकारी हो सकती है।


मीन राशि पर  गोचर का प्रभाव


स्वास्थ्य मध्यम रहेगा। मीन राशि वालों को वाहन चलाते समय सतर्क रहना चाहिए। व्यवसाय में बुद्धि का उपयोग करें। एक गलत निर्णय बड़ी समस्या का कारण बन सकता है। खर्चों में अचानक हुई बढ़ोतरी कुंभ राशि को परेशान करेगी। वाणी और व्यवहार पर नियंत्रण रखना चाहिए। रिश्तेदारों के बीच वाद-विवाद हो सकता है।


आचार्य राजेश कुमार

(https://www.divyanshjyotish.com)